Slide background

देश का सबसे बड़ा विज्ञान केन्द्र, विज्ञान नगरी, कोलकाता, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद् की एक इकाई है, जो कि संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन एक स्वायत्त संस्था है । प्रशासकीय मंत्रालय द्वारा प्रदत्त एकमुश्त अनुदान के साथ इसका विकास किया गया । विज्ञान नगरी की शुरुआत ०१ जुलाई, १९९७ को हुई । तब इस में दो सुविधाएँ थीं – विज्ञान केन्द्र (साइंस सेन्टर) और कन्वेन्शन सेन्टर (विज्ञान केन्द्र और सभा केन्द्र )। विज्ञान केन्द्र (साइंस सेन्टर) में है – स्पेस ओडिसी, डायनामोशन, विकास पार्क विषयगत दौरे (इवोल्यूशन पार्क थीम टूअर), समुद्री केन्द्र (मैरिटाईम सेन्टर), पृथ्वी अन्वेषण हॉल (अर्थ एक्सप्लोरेशन हॉल) और एक विशाल साइंस पार्क । कोलकाता के स्थानीय निवासियों के साथ-साथ इस शहर में आने वाले देशी और विदेशी पर्यटकों के लिए भी यह एक आकर्षण का केन्द्र है । कोलकाता में आने वाला कोई भी व्यक्ति इस प्रतिष्ठित संस्थान से अनजान नहीं रह सकता । यहाँ देश भर में मौजूद दूसरे विज्ञान संग्रहालयों के विपरीत शिक्षा के साथ-साथ मनोरंजन का भी सम्मिश्रण है । जिस ज़मीन पर कभी सौ सालों से अधिक समय तक पूरे शहर का कूड़ा डाला जाता था, उसी भूमि पर विज्ञान नगरी के बनने से उस जगह की सूरत बिल्कुल बदल गई। आज यहाँ विज्ञान के पार्क हैं और पर्यावरण को अनुकूल परिदृश्य है।

विज्ञान नगरी, कोलकाता के विशिष्ठ अंग, यहाँ के सभा केन्द्र संकुल (कन्वेन्शन सेन्टर कॉम्पलेक्स), में शामिल है – २२३२ लोगों के बैठने की क्षमता वाला मुख्य ऑडिटोरियम (प्रेक्षा गृह), ३९२ सीटों वाला एक मिनि ऑडिटोरियम और एक सेमिनार हॉल कॉम्पलेक्स, जिस में १५ से १०० लोगों के बैठने की क्षमता वाले ११ हॉल हैं,  २७० वर्गमीटर वाला एक इन्डोर और २०००० वर्ग मीटर वाला एक ओपन एयर एग्ज़ीबिशन ग्राउंड है । सभी ऑडिटोरियम और सेमिनार कक्ष पूर्णतया वातानुकूलित हैं । कोलकाता में होने वाले सम्मेलनों, सभाओं, साधारण मीटिंगों, वाणिज्यिक प्रदर्शनियों और सांस्कृतिक अनुष्ठानों के लिए विज्ञान नगरी का कन्वेन्शन सेन्टर एक आदर्श और प्रमुख स्थान है। विज्ञान नगरी सरकारी विभागों में आत्मनिर्भरता का एक उज्जवल उदाहरण है । अपने राजस्व के द्वारा ही यह संचालन और रखरखाव संबधी सारे खर्चे जुटा लेता है ।

साइंस सिटी के ई सी सदस्य, उपलब्ध सम्पर्क विवरण के साथ

१. डॉ सरोज घोष
ध्यक्ष
(पूर्व डी जी, एन सी एस एम और अध्यक्ष, ई सी, साइंस सिटी), ४ए सूर्यदीप अपार्टमेंट, ११२जी, सलीमपूर रोड, कोलकाता- ७०००३१
२. प्रो. दीप्ति प्रसाद मुखर्जी
सदस्य
हेड, इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार विज्ञान यूनिट क्म्प्यूटर और संचार विज्ञान डिवीजन भारतीय सांख्यिकी संस्थान, २०३, बी.टी.रोड, कोलकाता- ७००१०८
३. श्री विक्रम स्वरुप
Member
प्रबंध निदेशक पहारपूर कूलिंग टॉवर्स लिमिटेड, पहारपुर हॉउस्‌, ८/१/बी डायमंड हार्बर रोड, कोलकाता- ७०००२७
४. डॉ अमित रॉय
सदस्य
पूव निदेशक इंटर-यूनिवर्सिटी ऑक्‌सिलेटर सेंटर, नई दिल्ली, प्लैट १ए, क्सीनन को-ऑप हॉउसिंग सोसायटी, जे-३८३, बैसनवघाटा पाटूली टाउनशिप, कोलकाता- ७०००९४
५. डॉ बी वेणुगोपाल
सदस्य
निदेशक भारतीय संग्रहालय, २७ जवाहरलाल नेहरु रोड, कोलकाता-७०००१६
६. प्रो. ध्रूबज्योती चट्टोघपाध्याय
सदस्य
शैक्षणिक मामलों के प्रो वाइस चांसलर, कलकत्ता विश्वविद्यालय सीनेट हाउस, ८७/१ कॉलेज स्ट्रीट, कोलकाता- ७०००७३
७. सचिव
पदेन सदस्य
स्कूल शिक्षा विभाग, पश्चिम बंगाल सरकार, बिकास भवन, पूर्वी ब्लॉक, छ्ठा मंजिल , साल्ट लेक, कोलकाता-७०००९१
८. संयुक्त सचिव या उनके नामांकित व्यक्ति
पदेन सदस्य
(उप सचिव के पद के नीचे नही) संस्कृतिक मंत्रालय, भारत सरकार, ३२९, ’सी’ विंग, शास्त्री भवन, डॉ राजेंद्र प्रसाद रोड, नई दिल्ली – ११०११५
९. श्री जी.एस.रौतेला
पदेन सदस्य
महानिदेशक, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद, ब्लॉक-जी एन, सेक्टर- V, बिधान नगर, कोलकाता- ७०००९१
१०. श्री ए. दत्ता चौधरी
पदेन सदस्य
निदेशक साइंस सिटी, जे बी एस हाल्डेन एवेन्यू, कोलकाता- ७०००४६
११. डॉ एस जीलानी साहेब
पदेन सदस्य
संग्रहाध्यक्ष ’एफ’ साइंस सिटी, जे बी एस हाल्डेन एवेन्यू, कोलकाता- ७०००४६
१२. श्री के एस मुरली
पदेन सदस्य
संग्रहाध्यक्ष ’ई’ साइंस सिटी, जे बी एस हाल्डेन एवेन्यू, कोलकाता- ७०००४६
१३. श्री गौतम रॉय
गैर सदस्य सचिव
प्रशासनिक अधिकारी, जे बी एस हाल्डेन एवेन्यू, कोलकाता- ७०००४६